आत्मनिर्भर बिहार

जी हाँ!! अब बिहार बनेगा निर्भर। बीते कुछ दिनो में हमने अपने प्रवासी बिहारी भाइयों को रोज़गार के कारण पेरेशान होते देखा है। लोगों को हज़ारों किलोमेटर का सफ़र पैदल तेय करना पड़ा। इस मुसीबत की घड़ी में हम सभी उनकी मदद करेंगे। हमें “आत्मनिर्भर बिहार” के तहत उनके जीविकोपार्जन हेतु कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम लाया है। 

इसके अंतर्गत नए युवाओं को पशु पालन एवं मत्स्य पालन के क्षेत्र में कौशल विकास प्रशिक्षण दिया जाना है।इसयोजना में सारे चयनित लोगों को प्रशिक्षण के दौरान हमारे छात्रावास में रहकर पढ़ाई करनी होग। प्रशिक्षण समाप्ति के उपरांत “प्रमाण-पत्र” भी दिया जाएगा।

कार्यक्रम की विशेषताएं:
  1. पशु एवं मसत्य चिकित्सकों(डॉक्टर) के द्वारा 5-दिवसीय प्रशिक्षण
  2. छात्रावास की सुविधा
  3. भोजन की सुविधा
  4. डॉक्टर द्वारा तेयार की गयी प्रशिक्षण पुस्तिका
  5. पशु पालन या मत्स्य पालन के जुड़े उद्यम को शुरू करने एवं चलाने की 1 साल तक दूरभाषीय सहयोग
  6. Whatsapp ग्रूप में पशु एवं मसत्य चिकित्सकों(डॉक्टर) से सीधी बात-चीत
योग्यता एवं दस्तावेज:
  1. आयु 18 से 40 वर्ष
  2. आधार कार्ड
पंजीकरण की प्रक्रिया:
    1. नीचे दिए गए नीचे दिए गए फार्म को भेरें, या
    2. नीचे दिए गए मोबाइल नम्बर से नामांकन, या
    3. कौशल विकास केंद्र पर आकर नामांकन
पंजीकरण हेतु कृपया नीचे दिए गए फार्म को भेरें या कॉल करें- 8709476192, 8709476181

हमारे फ़ेस्बुक पेज को देखें : fb.com/atmnirbharbihar

हमारा पता जाने के लिए नीचे देखे:


आपका स्थायी पता