मजदूर कार्ड क्या है, मजदूर कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन , मजदूर रजिस्ट्रेशन के लाभ।

मजदूर रजिस्ट्रेशन (labour registration) योजना के बारे में बताने वाले हैं और आपको हम यह भी बताएंगे कि मजदूर रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको क्या फायदा मिलता है और मजदूर कार्ड ऑनलाइन(labour card online) किस प्रकार से बनाया जा सकता है।

मजदूर रजिस्ट्रेशन योजना ।

मजदूरों को सरकार के द्वारा अनेक प्रकार के लाभ दिए जाते हैं इस लाभ को देने के लिए सरकार को यह सुनिश्चित करना होता है कि उनके राज्य में कितने ऐसे लोग हैं जो मजदूर वर्ग के हैं यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने मजदूर रजिस्ट्रेशन योजना की शुरुआत की है और मजदूरों को एक विशेष प्रकार का लेबर कार्ड/मजदूर कार्ड/श्रम कार्ड (Labour Card) भी दिया गया ।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको अलग-अलग राज्यों के लिए मजदूर रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया के साथ उनके ऑफिशियल वेबसाइट की भी जानकारी देंगे । चुकी मजदूर रजिस्ट्रेशन राज्य सरकार के अंतर्गत चलाई जाने वाली योजना है जिस कारण से हर राज्य के लिए इसके वेबसाइट अलग-अलग होते हैं लेकिन आज के इस एकल पोस्ट में आपको सभी राज्य की जानकारी मिल जाएगी और रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया भी आपको बताई जाएगी ।

बिहार सरकार के द्वारा श्रमिक रजिस्ट्रेशन के लिए एक नई वेबसाइट शुरू की गई है जिसके माध्यम से आप ऑनलाइन खुद से नया श्रमिक पंजीकरण कर सकते हैं । बिहार सरकार के द्वारा जारी की गई नई वेबसाइट का लिंक यहां क्लिक कर प्राप्त करें । ↗️

बिहार लेबर कार्ड रजिस्ट्रेशन नंबर ,  जैसे ही आप अपना बिहार लेबर कार्ड बनाने हेतु ऑनलाइन आवेदन करते हैं 7 दिनों के भीतर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर लेबर रजिस्ट्रेशन नंबर या फिर लेबर कार्ड नंबर आ जाता है , जिसकी बदौलत भविष्य में आप अपना लेबर कार्ड डाउनलोड कर सकते साथ ही  यह लेबर कार्ड नंबर भी पूरी तरह से मान्य रहेगा |

लेबर रजिस्ट्रेशन करने के लाभ

आप राज्य सरकार के श्रम संसाधन विभाग (labour resources department) के तहत अपना लेबर रजिस्ट्रेशन (labour registration) कर लेते हैं, तो सरकार के द्वारा मजदूर वर्ग को मिलने वाले हर प्रकार के फायदे आपको दिए जाते हैं ।

बिहार में श्रमिक पंजीकरण के लाभ

लेबर रजिस्ट्रेशन(labour registration) होने के बाद सरकार आपको बहुत सारे फायदे देती है जिनका लाभ लेने के लिए आपके पास लेबर कार्ड (labour card) होना चाहिए ।
मजदूरों को मिलने वाले फायदे निम्नलिखित हैं ।

  1. सरकार के द्वारा मजदूरों के बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए ₹60,000 की सहायता प्रदान की जाती है ।
  2. गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों के इलाज के ऊपर जो भी खर्च आता है पूरा खर्च सरकार के द्वारा उठाया जाता है ।
  3. वहीं जब मजदूर की बेटी की शादी होती है तो उस समय सरकार के द्वारा ₹55,000 का अतिरिक्त लाभ दिया जाता है ।
  4. यदि मजदूर के घर में संतति की उत्पत्ति होती है । अगर बेटा होता है तो ₹12000 और अगर बेटी होती है तो ₹25000 की रकम दी जाती है ।
  5. मजदूर कार्ड/ श्रम कार्ड /लेबर कार्ड (labour card) के और भी बहुत सारे फायदे हैं ।
  6. बिहार में अगर लेबर कार्ड धारक मजदूर का बच्चा या बच्ची कक्षा 10 में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण होते हैं तो उन्हें उनके प्राप्तांक और प्रतिशत के अनुसार अलग-अलग प्रोत्साहन राशि दी जाएगी ।

छात्र या छात्रा अगर 80 फ़ीसदी या इससे अधिक अंक प्राप्त करते हैं तो उन्हें ₹25000 प्रोत्साहन राशि , अगर 70 फ़ीसदी या इससे अधिक अंक प्राप्त करते हैं तो ₹15000 प्रोत्साहन राशि और यदि 60 फ़ीसदी या इससे अधिक अंक प्राप्त करते हैं तो इन्हें ₹10000 प्रोत्साहन राशि के रूप में दिया जाएगा ।

नोट :- लेबर रजिस्ट्रेशन हर राज्य के लिए अलग-अलग होता है जिस वजह से मजदूरों को अलग अलग राज्य में लाभ भी थोड़ा बहुत अलग-अलग प्रकार से मिल सकता है ।

बिहार राज्य में निर्माण कार्य में निम्न कोटि के असंगठित कामगार आते हैं 

  1. भवन निर्माण एवं सड़क निर्माण कार्य में संलग्न
  2. कुशल कोटि के कामगार राजमिस्त्री
  3. राजमिस्त्री का हेल्पर
  4. बढई
  5. लोहार
  6. इट भवन में बिजली एवं संलग्न कार्य करने वाले इलेक्ट्रीशियन
  7. भवन एवं फर्से-फ्लोर टाइल्स का कार्य करने वाले मिस्त्री
  8. तथा उसके सहायक
  9. सेट्रिंग एवं लोहा बांधने का कार्य करने वाले
  10. ग्रील  एवं वेल्डिंग का कार्य करने वाले
  11. कंक्रीट मिश्रण करने वाले ,
  12.  मशीन चलाने वाले and मिक्सचर ढोने वाले
  13. महिला कामगार जो सीमेंट
  14. मिक्स धोने का कार्य करती है
  15. रोलर चालक एवं बांध निर्माण कार्य
  16.  बांध एवं भवन निर्माण कार्य में
  17. विभिन्न आधुनिक यंत्रों को चलाने वाले मजदूर
  18. बांध या भवन निर्माण कार्य में लगे चौकीदार
  19. भवन निर्माण में जल प्रबंधन का कार्य करने वाले
  20. पलम्बर इत्यादि
  21. ईट निर्माण एवं पत्थर तोड़ने के कार्य
  22. रेलवे टेलीफोन हवाई अड्डा इत्यादि के निर्माण में लगे
  23. मनरेगा कार्यक्रम के अंतर्गत एवं वानिकी कार्य करने वाले श्रमिक

लेबर रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज

अगर आप लेबर कार्ड (labour card) बनवाना चाहते हैं तो आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने जरूरी है ।

  1. passport size photo
  2. PAN card
  3. bank account passbook

नोट :- अलग अलग राज्य में दस्तावेज की मांग भी अलग प्रकार से की जा सकती हैं , हमने आपको साधारण तौर पर मांगे जाने वाले दस्तावेज की जानकारी दी है ।

श्रमिक पंजीकरण कैसे करे।

  • Step 1. ऑफिसियल वेबसाइट पर जाइए – Labour.bih.nic.in
  • Step 2. श्रमिक पंजीकरण पर क्लिक कीजिये.
  • Step 3. लेबर रिजिस्ट्रेशन फॉर्म को भरिये और रजिस्टर कीजिये.
  • Step 4. श्रमिक लॉग इन पर क्लिक करके Login कीजिये.
  • Step 5. अपनी व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करके Next बटन पर क्लिक कीजिये.
  • Step 6. आगे आप Contact Details (संपर्क विवरण) भर के Next पर क्लिक कीजिये.
  • Step 7. अब आपको योग्यता विवरण डाल कर Next करना है.
  • Step 8. अंत में आपको अतिरिक्त जानकारी भरने के बाद Save बटन पर क्लिक करना है.

इसके बाद आपका श्रमिक पंजीकरण सफलता पूर्वक पूर्ण हो जाएगा.

यदि अब भी आपको यह फॉर्म भरने में दिक्कत आ रहा है या आप अपना लेबर रजिस्ट्रेशन नहीं कर पा रहे है तो निचे बिहार लेबर रजिस्ट्रेशन स्टेप बाई स्टेप फुल प्रोसेस को पढ़िए आप पूरी तरह से समझ जायेगे.