पशुओं को ईयर टैग लगवाएँ और सरकारी योजनाओं का लाभ उठायें