किसानों, पशुपालकों , मुर्गी एवं बकरी पालकों ,मत्स्य पालकों के साथ काम करने के क्रम में यह पाया गया कि इनमें कृषि पशुपालन एवं मत्स्य पालन संबंधी जानकारियों का काफी अभाव है इन्हें आजकल के नई तकनीकों की जानकारी नहीं मिल पा रही है या देर से मिल पा रही है । इन किसानों को विशेषज्ञों की सुविधा नहीं है , कृषि तथा पशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित सामानों की उपलब्धता का अभाव है तथा इसके अलावा इन क्षेत्रों में प्रशिक्षण का भी अभाव है , किसानो को उनके द्वारा उपजाए गए फसल का सही मूल्य मिलने की भी परिकल्पना इस ऐप में की गई है

                 इन सब समस्याओं को समझने के बाद बिहार के कुछ पेशेवरों ने मिलकर किसान ऐप की नींव रखी है

जिसकी निम्नलिखित विशेषताएं हैं :-

  1. कृषि पशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित सभी जानकारियां उपलब्ध है ।
  2. कृषि पशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित किसी भी समस्याओं के लिए कॉल सेंटर पर विशेषज्ञ उपलब्ध है ।
  3. पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग तथा बिहार कौशल विकास मिशन द्वारा की जाने वाली कृत्रिम गर्भाधान ,पशुपालन ,मत्स्य पालन बकरी पालन एवं मुर्गी पालन पर निशुल्क प्रशिक्षण उपलब्ध है ।
  4. इस एप के द्वारा कृषि तथा पशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित सामानों की खरीद बिक्री की जा सकती है , इसके अलावा चूजा, मछली का बिया , अच्छे नस्ल की गाय एवं  भैंस तथा उनका दाना भी उपलब्ध कराया जायेगा ।
  5. इस एप के द्वारा बिहार के सभी पंचायततो में ग्रामीण जीविकोपार्जन को बढ़ावा देने के लिए ग्रामश्री किसान नामक दुकान के स्थापना का प्रस्ताव है,जिसमे कृतिम गर्भाधान, पशु स्वास्थ्य चिकित्सा की सुविधा के साथ कृषि एवं पशुपालन संबंधित सामानों की खरीद बिक्री का भी प्रस्ताव है ।
  6. ग्रामीण युवाओं को नौकरी में मदद के लिए आवेदन देने की सुविधा उपलब्ध है ।
  7. यह एप आपको पशु एवं मत्स्य बीमा तथा बैंक तथा माइक्रो फाइनेंस कंपनी से ऋण लेने में भी मदद करेगा
  8. सरकार द्वारा चलाए जाने वाले सारे स्कीमों का विवरण तथा स्कीमों में आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध है ।
  9. इसके अलावा कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य क्षेत्र के किसी भी जानकारी कॉल सेंटर के माध्यम से 10.00 सुबह से 6:00 शाम के बीच उपलब्ध है ।