भारत देश में भैंस की निम्न नस्लें पायी जाती हैः

1.         मुर्रा

प्राप्ति स्थानः यह नस्ल हरियाणा, दिल्लीं, आंशिक रूप से उत्तर प्रदेश एवं बिहार इत्यादि राज्यों में पाया जाता है।

शारीरिक लक्षणः इसका रंग काला, शरीर भारी, चमकदार, मुड़े हुए सींग, हल्की गर्दन व सिर पतला, चिकनी, मुलायम एवं चमकीली त्वचा, शरीर पर बाल कम तथा मादा पशुओं का शरीर आगे पतला और हल्का एवं पीछे का भारी तथा चौड़ा होता है। औसतन प्रति व्यांत दूध उत्पादन की क्षमता
1360-2270 लीटर

2          मेहसाना

प्राप्ति स्थानः यह नस्ल गुजरात के मेहसाना जिला में पाया जाता है।

शारीरिक लक्षणः इसका आकार मध्यम, काला रंग तथा सिर मुर्रा नस्ल के भैंस से मिलता जुलता है। गर्दन लम्बी, ललाट चौड़ा जिसके मध्य में थोड़ा गड्ढ़ा, चेहरा लम्बा और सीधा, थूथन चौड़ी एवं नथुने खुले हुए, सींग दंतार की शक्ल के एवं मुर्रा भैंस की अपेक्षा कम मुड़े हुए। मध्यम आकार के नोंकदार कान एवं अंदर बाल उगे हुए। औसतन प्रति व्यांत दूध उत्पादन की क्षमता
1800-2700 लीटर है।

3          जाफराबादी

प्राप्ति स्थानः यह नस्ल काठियाबाड़ तथा जाफराबाद के निकटवर्ती क्षेत्रों में पाया जाता है।

शारीरिक लक्षणः गलकम्बल पूर्ण विकसित। इसका सिर और गर्दन भारी तथा ललाट उभरा हुआ होता है। सींग भारी एवं गर्दन की ओर मुड़े हुए होते हैं। औसतन प्रति व्यांत दूध उत्पादन की क्षमता
1300-1400 लीटर है।

4          भदावरी

प्राप्ति स्थानः यह नस्ल उत्तर प्रदेश के आगरा, ग्वालियर तथा इटावा जिलों के आस-पास के क्षेत्रों में पाया जाता है।

शारीरिक लक्षणः इसका रंग ताँबे जैसा, सफेद गुच्छेदार
लम्बी पूँछ, सींग चपटे, मोटे पीछे की ओर मुड़कर ऊपर अंदर की ओर मुड़ा हुआ होता है।अयन छोटे, जिसपर शिराएँ उभरी होती है। औसतन प्रति व्यांत दूध उत्पादन की क्षमता 1100-1300लीटर है।

5          नीली रावी

6          सूरती